Dead

अंततः
मुझे ना खुशी होती है
ना किसी बात का गम होता है
ना ही कोई सपने है
ना कोई हक़ीकत
ना बारिश मे मज़ा आता है
ना ही धूप की चुभन
ना किसी का इंतेजर है
ना किसी से कोई ऐतबार
अब ना तो मैं रोता हूँ
ना ही हॅसा करता हूँ
ना किसी बात का मलाल करता हूँ
ना तो मैं तन्हा हूँ
ना ही किसी के साथ हूँ

जी हाँ मैं अब मर चुका हूँ,
और तुम ज़िंदाओ से मरा हुआ मैं बेहतर हूँ

 

Ashwini sharma